गाया है लता ने। गीतायन पर खोजें

असल में

कहे झूम झूम रात ये सुहानी
पिया हौले से छेड़ो दुबारा

vijay wadnere ने जैसा सुना/समझा
कहे झूम झूम रात ये सुहानी
पिया हौले से *छेड़ो* दुबारा

बकौल vijay wadnere,
main samajhta tha yahan "छेड़ो" se matlab chhe.Dkhani wala "छेड़ो". jaise naayika naayak se guzarish kar rahi hai ki mujhe fir se chhe.Do.
4 की पसंद - मेरी भी!
अरे! मैंने भी यही समझा था!


चर्चा

आपकी बात

आपका नाम

4 + 7 =


सर्वाधिकार सुरक्षित © 2005 विनय जैन